image

हमारे समाज मे प्रत्येक कार्यक्षेत्र मे दक्ष श्रमिक, शिल्पी, व्यवसायी, डॉक्टर, इन्जीनियर, अधिकारी एवं कर्मचारी कार्यरत है । इन कर्मचारियों में कई उच्च पदों पर अपनी सेवाएं दे रहे है। जांगिड समाज मे जागृति लाने, रचनात्मक कार्यों मे सहयोग देने सर्वांगीण विकास के लिए कंधे से कंधा मिलाकर चलने के उद्देश्य से साथ विभिन्न विभागों मे कार्यरत कर्मचारियों एवं अधिकारियों का परस्पर परिचय कराने के साथ सामाजिक गतिविधियों मे भी सकारात्मक सहयोग देने एवं कर्मचारी कल्याण के उद्देश्य को ध्यान मे रखकर श्री विश्वकर्मा जांगिड कर्मचारी समिति जोधपुर का गठन जांगिड समाज के बुद्दिजिवियों जिनमें विशेषकर श्री जे.पी.शर्मा अधीक्षण अभियन्ता श्री हजारीलाल जांगिड, अधिशाषी अभियन्ता (से०नि०) श्री रामदीन शर्मा, श्री भागवतलाल जांगिड ने 10/08/1996 को एक बैठक का आयोजन किया, जिसमें काफी कर्मचारियों/अधिकारियों ने भाग लिया तथा सर्वसमत्ती से श्री विश्वकर्मा जांगिड कर्मचारी समिति के गठन की घोषणा की गयी ।
सर्वप्रथम श्री जे०पी०शर्मा अधिक्षण अभियन्ता (सेवानिवृत) भूजल विभाग जोधपुर को समिति का अध्यक्ष मनोनीत किया गया । श्री ओ०पी० शर्मा (सायल) विधि परामर्शदाता (से०नी०) ने 1996 मे समिति का संविधान तैयार किया । जिसका पंजीकरण सं 133/97 है । समिति द्वारा संविधान के अनुसार वर्ष-1997 मे नई कार्यकारिणी का गठन किया गया । जिसमें श्री चम्पालाल डी०एम०ई० को अध्यक्ष चुना गया । तत्पश्चात सन 2000 मे निम्न हस्ताक्षरकर्ता (प्रेमसुख शर्मा) को सर्वसम्मति से अध्यक्ष बनाया गया । दिनांक 23-5-2010 को समिति की आमसभा में संविधान संशोधन किया गया एवं उक्त संशोधन के तहत वर्तमान कार्यकारिणी का गठन निम्न प्रकार हुआ ।